मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की राज्य सेवा परीक्षा-2019 के लिए उम्मीदवारों को अधिकतम आयुसीमा में एक वर्ष की छूट मिलेगी. मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश के बाद पीएससी ने सोमवार देर शाम इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया. इसके मुताबिक राज्य सेवा परीक्षा के साथ ही राज्य वन सेवा परीक्षा में भी आवेदकों के लिए न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और अधिकतम 41 वर्ष रहेगी.

पहले अधिकतम आयुसीमा 40 वर्ष थी. हालांकि उम्मीदवारों की आयु की गणना के लिए कट ऑफ डेट 1 जनवरी 2020 रहेगी, ताकि ओवरएज हो रहे उम्मीदवारों के साथ नए उम्मीदवारों को नुकसान न हो. उधर, पीएससी के चेयरमैन डॉ. भास्कर चौबे ने बताया कि आवेदन जमा करने की अंतिम तारीख 9 दिसंबर से बढ़ाकर 12 दिसंबर की जा रही है.

उल्लेखनीय है कि 2019 के नोटिफिकेशन में हुई देरी के कारण ओवरएज हुए उम्मीदवारों द्वारा आयु की गणना 1 जनवरी 2019 से करने की मांग की जा रही थी. ऐसे में जो उम्मीदवार 1 जनवरी 2020 के हिसाब से परीक्षा में शामिल होने के लिए योग्य हुए हैं, उन्हें बाहर होना पड़ता. इसे देखते हुए पहले सामान्य प्रशासन विभाग के मंत्री डॉ. गोविंद सिंह के साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चर्चा की. बाद में विभाग की सचिव सोनाली पोंक्षे वायंगणकर ने पीएससी की सचिव को पत्र लिखकर उम्र सीमा 41 करने का निर्देश दिया.

हाईकोर्ट के फैसले के बाद सरकार का कदम

दरअसल, मप्र हाईकोर्ट की इंदौर बेंच ने पीएससी द्वारा प्रस्तुत किए गए नियमों के अाधार पर उम्मीदवारों की कटऑफ डेट को 1 जनवरी 2020 से 1 जनवरी 2019 करने वाली याचिका को खारिज कर दिया है. इसलिए शासन ने उम्मीदवारों को एक वर्ष की छूट देने का निर्णय लिया. शासन ने आवेदन करने की अंतिम तारीख में बढ़ोतरी करने को भी कहा है.

अन्य सबंधित लिंक :

बढ़ गई आवेदन की तारीख

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. भास्कर चौबे के अनुसार, बदलाव को देखते हुए आवेदन जमा करने की समय सीमा भी बढ़ा दी गई है. पहले एमपीपीएससी 2019 के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 9 दिसंबर 2019 थी. इसे अब 12 दिसंबर 2019 कर दिया गया है.

क्यों लिया गया ये फैसला

आयोग के पूर्व के नियमों के अनुसार, उम्मीदवारों की आयु की गणना 1 जनवरी 2019 तक की जा रही थी. इसे लेकर मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी. लेकिन कटऑफ डेट को 1 जनवरी 2020 से घटाकर 1 जनवरी 2019 करने वाली याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी. इसके बाद प्रशासन को एक साल की छूट देने का फैसला लेना पड़ा.

By JobSeva

Leave a Reply

Your email address will not be published.