MP Government Vacancy 2021 – मध्य प्रदेश  में 24000 शिक्षकों  की भर्तियां होंगी. चौथी बार सत्ता में आई शिवराज सरकार ने अपने बजट में इसका ऐलान किया. इसके अलावा एमपी पुलिस में कांस्टेबल के 4000 पदों पर भी नियुक्तियां होंगी. मध्य प्रदेश में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश किया गया. इसी तरह दो सालों में एमबीबीएस की 1235 सीटें भी बढ़ाई जाएंगी. इस तरह से मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) युवाओं को रोजगार का सुनहरा अवसर दे रही है.

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए पेश किए गए बजट के अनुसार मध्य प्रदेश के कई जिलों में नए मेडिकल कॉलेज भी बनेंगे. मध्य प्रदेश के श्योपुर, राजगढ़, मंडला, सिंगरौली, नीमच, मंदसौर, दमोह, छतरपुर और सिवनी आदि जगहों पर मेडिकल कॉलेजों के निर्माण होंगे. गौरतलब है कि मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य भी संबोधित किया गया था ऐसे में शिवराज सरकार शुरुआत से ही मेडिकल व्यवस्था में सुधार करने की कोशिश करती आई है.

स्टूडेंट्स के लिए ट्रांसपोर्ट सर्विस

प्रदेश के पांच आदिवासी बहुल जिलों में 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए ट्रांसपोर्ट सर्विस शुरू की जाएगी. आठनेर, पाली, बिरसा आदि क्षेत्रों में बच्चों को बस या अन्य साधनों से घर से स्कूल लाया ले जाया जाएगा.

24000 शिक्षकों की भर्तियां

मध्य प्रदेश के 9200 स्कूलों को हाइटेक बनाया जाएगा. इसके अलावा सरकारी प्राथमिक शालाओं की स्थापना के लिए भी बजट में प्रावधान किया गया है. साथ ही 24000 शिक्षकों की भर्तियां भी की जाएंगी जिससे प्रदेश में शिक्षा विस्तार के साथ रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा.
 


MP Government Vacancy 2021 – मध्य प्रदेश के विभिन्न विभागों में करीब 90 हजार पद खाली हैं. जिन पर नियुक्तियां पिछले तीन वर्षों से नहीं की जा रही हैं. इनमें कुछ विभाग ऐसे भी हैं, जहां भर्ती प्रक्रिया पूरी कराने के बाद अभ्यर्थियों को नियुक्तियां नहीं दी गईं. भर्तियां नहीं होने की वजह से प्रदेश के युवा परेशान हैं, उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वे क्या करें?

पिछले तीन वर्षों में सियासी उठापटक के बाद सरकारें तो बदल गईं, लेकिन बेरोजगार युवाओं के लिए सरकारों ने कोई बड़ा कदम नहीं उठाया. आज आलम यह है कि प्रदेश के अधिकतर युवाओं की आयुसीमा सामाप्त हो चुकी है. जिसकी वजह से वे सरकार से आस भी छोड़ चुके हैं. निजी एजेंसियों के मुताबिक प्रदेश में इस वक्त डेढ़ करोड़ बेरोजगार हैं.

वहीं, राज्य सरकार के रोजगार पोर्टल पर करीब 35 लाख बेरोजगार रजिस्टर्ड हैं. इनमें 90 फीसदी मप्र के मूल निवासी हैं. सरकार की पहल पर रोजगार मेला तो लगवाया जाता है. लेकिन कंपनियां रोजगार नहीं देती हैं.

बीते दिनों भी राजधानी भोपाल के गोविंदपुरा में मंगलवार को रोजगार मेले का आयोजन हुआ. जिसमें करीब तीन हजार आवेदकों ने भाग लिया. इसमें 20 से अधिक कंपनियों ने इंटरव्यू भी लिए. हालांकि अभी तक रिजल्ट नहीं बताया गया है.


MP Government Vacancy 2021– The Shivraj government of the state, in a meeting held with the forest department, announced to provide employment to 7 lakh youth of the state. In the meeting Shivraj government had said that mapping is being done by the state government to start the recruitment process in the forest department. After this, the vacancies will be made from April 1.

प्रदेश की शिवराज सरकार ने बीते दिनों वन विभाग के साथ हुई बैठक में प्रदेश के 7 लाख युवाओं को रोजगार देने का ऐलान किया था. बैठक में शिवराज सरकार ने कहा था कि राज्य सरकार द्वारा वन विभाग में भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के लिए मैपिंग की जा रही है. इसके बाद खाली पदों पर भर्तियां 1 अप्रैल से की जाएंगी.

हालांकि, उनके द्वारा एक विभाग में ही 7 लाख युवाओं को रोजगार देने की बात पर प्रदेश की सियासत भी गरमा गई थी. कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने राज्य सरकार पर तंज कसते हुए कहा था कि शब्दों की बाजीगरी के माध्यम से पूरे देश में किसी सीएम को भारत रत्न दिया जाएगा तो, वह सीएम शिवराज सिंह चौहान ही होंगे.

शिवराज के बयान पर सवाल उठाते हुए केके मिश्रा ने कहा था कि एक छोटे से विभाग में आखिर वे कैसे 7 लाख लोगों को रोजगार देंगे? उसका एक्शन प्लान क्या होगा? लागू कैसे किया जाएगा? सीएम पर तंज कसते हुए केके मिश्रा ने कहा कि सीएम को इस बात की ज्यादा चिंता है कि मगरमच्छ कैसे किसी अन्य प्राणी के साथ में रह सकता है.

सीएम शिवराज के इस ऐलान के बाद से मध्य प्रदेश के युवा आस लगाए बैठे हैं कि सरकार की तरफ से कब भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा और कब से वे आवेदन कर सकेंगे. ऐसे में छात्रों को बता दें कि शिवराज सरकार की तरफ से  अभी तक भर्ती प्रक्रिया के शुरू होने को लेकर कोई ऐलान नहीं किया गया है.


 

MP Government : इन विभागों में जल्द होगी खाली पदों पर भर्तियां

MP Government Vacancy 2020: Madhya Pradesh government is continuously taking major decisions regarding employment of youth. Recently, the government had decided that only the original residents of Madhya Pradesh will be given priority in government jobs, so that unemployed youth of the state can get employment. In this series, CM Shivraj Singh Chauhan gave instructions to officers for recruitment to vacant posts in various departments. 25 thousand posts will be recruited in Madhya Pradesh. Read Further details below:

 मध्यप्रदेश सरकार लगातार युवाओं के रोजगार को लेकर बड़े फैसले ले रही है। हाल ही में सरकार ने फैसला लिया था कि सरकारी नौकरियों में सिर्फ मप्र के मूल निवासियों को ही प्राथमिकता दी जाएगी, इतनी ही नही प्रदेश में जल्द सरकारी नौकरियां भी निकाली जाएगी, ताकी प्रदेश के बेरोजगार युवाओं (Unemployed youth) को रोजगार मिल सके। इसी कड़ी में आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने विभिन्न विभागों में खाली पदों पर भर्ती के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। मध्यप्रदेश में 25 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी. राज्य में शिक्षकों के लगभग 15 हजार और अन्य विभागों के 10 हजार पद कुल मिलाकर लगभग 25 हजार पदों पर भर्ती अनुमानित है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवास पर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ शासकीय सेवाओं में नियुक्तियों को लेकर महत्वपूर्ण बैठक की। इस दौरान उन्होंने गृह, राजस्व,जेल, लोक निर्माण,शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य विभागों में रिक्त पदों पर नियुक्तियां प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

सीएम के निर्देश के बाद ऐसा माना जा रहा है कि अब प्रदेश में विभिन्न विभागों में भर्ती की जा सकेगी। हाल ही में मंदसौर के सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के सीतामऊ में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने ऐलान करते हुए कहा था कि प्रदेश में जल्द ही पुलिस एवं अन्य नौकरियों में शीघ्र ही भर्ती प्रक्रिया प्रारम्भ की जायेगी।

सहायक ग्रेड-तीन, स्टेनो टाइपिस्ट आदि में होगी भर्तियां

अनुमान के अनुसार, करीब 10 हजार पदों के लिए पीईबी द्वारा आगामी महीनों में परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी. इन पदों में गृह विभाग के अंतर्गत पुलिस आरक्षक के 3272 पद, किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी और वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के 863 पद, गृह विभाग में आरक्षक रेडियो संवर्ग के 493 पद, राजस्व निरीक्षक के 372 पद, कौशल संचालनालय में आईटीआई प्रशिक्षण अधिकारी के 302 पद शामिल हैं.

इसके अलावा विभिन्न विभागों में शीघ्र लेखक, सहायक ग्रेड-तीन, स्टेनो टाइपिस्ट, स्टेनोग्राफर, डाटा एंट्री ऑपरेटर, सांख्यिकी अधिकारी और भृत्य, चौकीदार, वार्ड बॉय, क्लीनर, वाटरमेन कुक जैसे पदों की भर्ती की जाएगी.

बैठक में बताया गया कि प्राथमिक शाला शिक्षक पात्रता परीक्षा दिसंबर 2020 में प्रस्तावित है. इस समय पीईबी की ओर से तकनीकी शिक्षा संचालनालय, पशुपालन विभाग और कृषि विभाग की विभिन्न परीक्षाओं के आयोजन की तैयारी भी की जा रही है. ये परीक्षाएं अकादमिक सत्र के अनुसार अक्टूबर और नवंबर 2020 में प्रस्तावित हैं.

By JobSeva

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *